समय यात्रा मुंकिन या नमुमकीन ? क्या है समय यात्रा ?

समय यात्रा मुंकिन या नमुमकीन ? क्या है समय यात्रा ?

नमस्कार दोस्तों तो स्वागत हैं आपका इस ब्लॉग सीरिज मे | तो आज हम बडेही रोमांचक बारे मे बात करणे वाले हैं | तो क्या दोस्तों आपको कभी एैसा लगा हैं की आप आपने भूतकाल मे जाकर बिते हुये कल कि बतोनोको बदलना चाहते हो |और क्या आप अपना भविष्य देखणा चाहते हो |मेरे हिसाबसे ऐसे सारे खयाल आपके मन में जरूर आते होंगे|



तो मेरे इन सारे बतोंसे आपको मेरे ब्लॉग की आयडिआ आपको आ चुकी होंगी |हा तो समय यात्रा बहुत ही रोमांचक विषय हैं |मेरे हिसाबसे हर किसी का सपना हैं की ओ समय यात्रा कर सके | लेकीन अभी तक ये नामुमकिन हैं |लेकीन कही सारी स्टोरी मे समय यात्रा के बारें मे लिखा गया हैं लेकीन ये सच हैं की झुट किसी को भी पता नही हैं |आयेसेही  कही सारी फिल्मो मे और वेब मे भी इसको दर्शया गया है|क्या समय यात्रा करना मुमकिन हैं? क्या हम समय को अपना गुलाम बना सकते हैं | ये सब हमारे जैसे मनुष्य को थोडा नामुंकिन लगत हैं | लेकीन सायंटिस्ट इस समय यात्राको मुमकीन मानते हैं | और ये सब पॉसिबल हैं क्युंकी हम अब समय यात्रा कर रहे हैं हम सब भूतकाल से भविष्य और भविष्य से वर्तमान मे प्रवेष करते हैं |

तो आपके मन मे कही सारे सवाल आ रहे होंगे | तो समय यात्रा पर कबसे सिद्धांत आने लेगे और समय यात्रा पर रिसर्च कबसे शुरू हुई थी ? वैसे तो जब ग्रेट सायंटिस्ट अल्बर्ट आइन्स्टईन ने सापेक्षतः का सिद्धांत मांडा तो उस वक्त कही शास्त्रज्ञो ने समय यात्रा पे कही सारी थिओरी को लीखा गया | लेकीन उससे भी पहले कही सारी स्टोरी और कही ग्रंथ और पुरानोमे भी समय यात्रा का उल्लेख किया गया है|

चलो तो दोस्तों अब हम सापेक्षतः के सिद्धांत को जाणते हैं |इस सिद्धांत मे आइन्स्टाईन ये बात है की ब्रह्मांड मे समय हर जगा अलग अलग पाय जाता हैं| इसके हिसाबसे समय रफतार से जुडी होती हे |तो समजो की जिस हिसाबसे पृथ्वीपर समय चल रहा हैं उस हिसाबसे सब जगा नाही होता हैं | हर तरफ समय अलग अलग होता हैं |


ऐसा माना जाता हैं की जब हम तेजीसे और लाईट के हिसाबसे ट्रॅव्हल करेंगे तब हम भविष्य मे ट्रॅव्हल कर सकते हैं|लेकीन ऐसा यंत्र बनाना अभी तक तो नमुमकिन हैं | तो एेसा कुयं तो उस मशीन को बणाने के लिये आनंत पॉवर लगेगाऔर इस ब्रह्मांड मे अभी तक अनंत पॉवर किसिके पास नहि हैं|औंर सामजो ऐसा यंत्र बना भी लिया तो वोसिर्फ भविष्य मे ही यात्रा कर सकता हैं |एक बार आप भविष्य मे चले जाओ तो फिर आप उससे पीछे आ नही सकते हो |


औंर किस किस माध्यम से हम समय यात्रा कर सकते हैं? 

कही सारी थियरी मे इस को बताया गया हैं|उसमे कही सारे माध्यम आते हैं |उसमे पाहिले आता हैं वर्म होल जब सापेक्षतः का सिद्धांत बनाया गया तब तब गणीतोसे ये साबित कर दिया की ब्रह्मांड मे कही दो चीजोंको जोडणे केलीय एक सुरंग होता हैं जो की उस दो पॉइंट को जोड देता है उस वजासे कही प्रकाश समय बचं जाता हैं उस को टाईम ट्रॅव्हल कहा जाता हैं|

उसके बाद आता हैं समय यंत्र | उस से के बारेमे आपको आता हैं

औंर अंत मे आता हैं ब्लॅक होल .क्या है ब्लॅक होल ? ब्लॅक होल ब्रह्मांड मे स्तिथ एक सुरंग होता हैं जिसमे समय बाहर की विश्व से धिमी गती से चलता हैं | ऐसी थियरी हैं की हम इस से टाईम ट्रॅव्हल यांनी की समय यात्रा कर सकते हैं |

तो ये सारी चीजे थिओरी मे बतायी गयी है | ये बन भी सक्ती हैं और नाही भी | लेकीन इस विश्व मे कोई भी चीज नमुंकिन नही हैं | लेकीन हुमको इन सारे चीजोंक के उपर ध्यान ना दे और आप जिस जिंदगी को जी रहैं हैं उसपे ध्यान दीजेये | जो बिता था कल था और आने वाला भविष्य हैं| जो होणे वाला हैं वो होके ही रहेगा उसको कोई नहीं बदल सकता है |

अभी तक के लिये शुक्रिया अगले ब्लॉग मे जरूर मिलते हैं |औ र यदि आपको ब्लॉग अच्छा लगा हैं तो कमेंट जरूर किजिये|


4 Comments

ONLY RELATED COMMENTS

Post a Comment
Previous Post Next Post